झारखंड में आपदा प्रबंधन प्राधिकार की भूमिका।Jharkhand Aapda Prabandhan Pradhikar ki Bhumika

आपदा या अंग्रेजी में डिजास्टर (disaster) कोई ऐसा प्रकोप हो सकता है जो एक साथ विशाल जनसँख्या को प्रभावित करता हो। इस दृष्टिकोण से जान माल की सुरक्षा सुनिश्चित करने के सरकारों की जिम्मेदारियां बढ़ जाती है। आपदा प्रबंधन प्राधिकार का गठन इसी उद्देश्य से किया जाता है। अमूमन राज्यों के मुख्यमंत्री या फिर राष्ट्रीय स्तर पर प्रधानमंत्री इसके अध्यक्ष होते हैं।

झारखंड एक पहाड़ी इलाका होने के चलते बाढ़ एवं भूकंप जैसी आपदाओं से तो सुरक्षित है लेकिन सूखे से ज्यादातर प्रभावित रहता है। जनसँख्या का 75% कृषि निर्भर होने के चलते सूखे की समस्या राज्य की अर्थव्यवस्था के लिए चिंता सबब बना जाता है। झारखण्ड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकार की भूमिका सूखे एवं अन्य ऐसी आपदाओं में महत्त्वपूर्ण रही है और जनसामान्य तक इसकी योजनाओं का लाभ सुनिश्चित किया गया है। राज्य स्तर पर इसके अध्यक्ष मुख्यमंत्री होते हैं एवं जिला स्तर पर जिला उपायुक्त।

आपदा प्रबंधन की संकल्पना

भारत भौगोलिक एवं जलवायु विविध प्रदेश होने के चलते कई तरह की आपदाओं का शिकार होता रहा है जिसमे सुनामी, भूस्खलन, चक्रवाती तूफान, बढ़, सूखा, भूकंप इत्यादि शामिल है। इसलिए आपदा प्रबंधन की संकल्पना का भारत में जन्म हुआ और आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 पारित हुआ।

आपदा प्रबंधन आपदा को रोक तो नहीं सकती परन्तु इसके घटित होने के बाद प्रभाव को काम कर सकती है।
अधिनियम की धारा 2 (d) में “आपदा” को परिभाषित किया गया है, जिसके अंतर्गत आपदा का अर्थ प्राकृतिक या मानव निर्मित कारणों से उत्पन्न किसी भी क्षेत्र में “तबाही, दुर्घटना, आपदा या गंभीर घटना” से है।

झारखण्ड में विगत वर्षो में आपदाएं

विगत वर्षों में झारखण्ड में कई आपदाएं घटित हुई है जिनका संक्षिप्त विवरण एवं राज्य प्रबंधन प्राधिकार की भूमिका पर दृष्टिपात करना प्रासंगिक रहेगा

त्रिकूट केबल कार दुर्घटना 2022

इस दुर्घटना में त्रिकूट पर्वत, देवघर में कई सैलानी हवा में झूलते हुवे रोप वे कार में २ दिन तक फंसे रह गए। ३ मौतें दर्ज की गयीं किन्तु आपदा प्रबन्धन प्राधिकार के प्रयसों से ३८ लोगो को सुरक्षित निकल लिया गय। राज्य आपदा प्रबंधन ने हेलीकाप्टर भेजे और ndडरफ के जवानो ने साहसिक प्रदर्शन करते हुवे अधिकांश लोगो को रेस्क्यू कर लिया

साहिबगंज बाढ़ आपदा 2021

जुलाई अगस्त २०२१ में साहिबगंज में बढ़ का प्रकोप कम से कम २१००० लोगों को घर से बेघर कर दिया और २लख के आस पास की जनसंख्या किसी न किसी रूप से प्रभावित हुयी। चूँकि मुख्यमंत्री आपदा प्रबंधन के अध्यक्ष होते हैं , उन्होंने खुद से ही इस आपदा का हवाई सर्वे किया एवं जिला स्तर के अध्यक्ष जिला उपायुक्त ने ंडरफ की कई टुकड़ियां राहत एवं बचाव कार्य के लिए तैनात किया।
आपदा के सामान्य होने में कई साप्ताह लग गये लेकिन राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकार ने समयोचित फैसले लेते हुए जिला स्तरीय प्रबंधन को आवश्यक निर्देश दिए और लोगों को जरुरी सहायता प्रदान की गयी। बाढ़ से विस्थापित लोगों को पुनर्वास कराने में आपदा प्रबंधन में निभाई

nnnnn

vvvvvv

nnnn

nbnbbbnbn

…………………………..

झारखंड में जिलावार आपदा का स्वरुप

क्रम संआपदा का स्वरुपप्रभावित जिले
1.सूखालगभग सभी जिले परन्तु गढ़वा एवं पलामू दीर्घकाल से सूखा प्रभावित क्षेत्र रहे हैं।
2.बिजली गिरनापलामू, रांची , कोडरमा, गिरिडीह, चतरा, हज़ारीबाग़, लोहरदगा, दुमका,लातेहार
3.जंगल की आगगढ़वा, पलामू, लातेहार, चतरा, हजारीबाग, ई एंड डब्ल्यू सिंहभूम, सिमडेगा, गुमला
4.
5.
6
7.
8.
9.

झारखंड राज्य आपदा प्रबंधन इकाई एवं कार्य प्रणाली

राज्य आपदा प्रबंधन कई जिला स्तरीय प्रबन्धन इकाइयों में विभक्त है और आपसी तालमेल से हर आपदा से मोर्चा लेती है। इसकी कार्य प्रणाली को समझना बिलकुल प्रासंगिक है।

राज्य आपदा प्रबंधन योजना

  • झारखण्ड का आपदा प्रबंधन विभाग जो की २००९ में स्थापित हुआ, आपदा में बचाव एवं प्रशिक्षण की योजना तैयार करता है।
  • आपदा प्रबंधन विभाग ने एक इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर की स्थापना की है और यह राज्य के सभी २४ जिलों में काम करता है।
  • ऑपरेशन सेंटर को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन के सहयोग से वी – सेट उपग्रह से जोड़ने की योजना पर काम चल रहा है।

……………………….

………………

………………..

………………………………………….

……………………

झारखंड राज्य आपदा प्रबंधन- निष्कर्ष

राज्य की आपदा प्रबंधन ने विगत कई आपदाओं में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है

….

…..

झारखंड राज्य आपदा प्रबंधन: FAQ

Q. झारखंड आपदा प्रबंधन योजना क्या है?

Ans: XXXXXXXXXXXXXXXXXX

Q. झारखंड में एक प्रमुख आपदा क्या है?

Ans: xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

Q. झारखंड राज्य में आपदा विभाग का गठन कब हुआ?

Ans: CCCCCCCCCCCCCCCCCCCCCCCCCCCCCCCCC

Q. राज्य आपदा प्रबंधन में कितने सदस्य होते हैं?

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

Leave a Comment